You are here

मोदी सरकार ने UPA से सस्ते में खरीदे 36 राफेल विमान,आ गई CAG की सबसे बड़ी रिपोर्ट!

मित्रों आप लोगों का हमारे Namo fan Club न्‍यूज पोर्टल में स्‍वागत है। आपको बता दें कि देश में जबसे मोदी सरकार का आगाज हुआ है, तभी से देश प्रगति की ओर अग्रसर हो पाया है अन्‍यथा सरकारें तो बहुत सी आयी और बहुत से वादें भी किये पर उसपर खरा उतरने का काम अगर किसी सरकार ने किया है तो व सिर्फ मोदी सरकार है। आपको बता दें कि मोदी सरकार की ही देन है कि आज दस बड़े देशों में भारत गिना जाने लगा है। इसके बावजूद राफेल डील को लेकर कांग्रेस पार्टी हमेशा ही मोदी सरकार पर उंगली उठाती रही है, जबकि मोदी सरकार ने UPA से 2.86 प्रतिशत सस्‍ते में खरीदे 36 राफेल विमान, जानिये CAG रिपोर्ट की यह 6 बड़ी बातें, जो कुछ इस प्रकार से है….
पहला :  हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार मोदी सरकार ने पुराने सौदे को खत्म कर दिया और साल  2015 में फ्रांस के साथ 36 राफेल विमानों को खरीदने के लिए गवर्नमेंट टू गवर्नमेंट सौदे की घोषणा की।
दूसरा : 141 पन्नों की CAG रिपोर्ट में कहा गया है कि मंत्रालय ने 2016 में तर्क दिया था कि अनुबंधित मूल्य 2007 की कीमत से नौ प्रतिशत कम था पर, ऑडिट के अनुसार, मूल फ्लाईअवे विमान को 2007 के समान कीमत पर खरीदा गया था।
तीसरा : CAG की रिपोर्ट में राफेल विमान की कीमत का जिक्र नहीं है, राफेल सौदे पर सीएजी की रिपोर्ट से पता चला है कि एक प्रतिस्पर्धी, यूरोफाइटर टाइफून जेट द्वारा यूरोपीय फर्मों के एक कंसोर्टियम द्वारा निर्मित प्रस्तावों के साथ फ्रांसीसी लड़ाकू की लागत की तुलना करने की पेशकश की गई है, राफेल और यूरोफाइटर टाइफून फाइटर जेट दोनों भारतीय वायु सेना की आवश्यकता को पूरा करते थे और छह दावेदारों में से चुने गए थे।
चौथा : राफेल पर  एकजुट विपक्ष को फटकार लगाते हुए, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि कैग रिपोर्ट के बाद ‘महाझूठबंधान’ का झूठ उजागर हुआ।
पांचवा : अन्य दावेदार सिंगल इंजन वाले थे जिन्हें यूएस ने F-16 और F-18 सुपर हॉर्नेट्स, स्वीडिश ग्रिपेन और रूसी Su-35 थे. EADS सरकार को 126 मध्यम मल्टी-रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एमएमआरसीए) के लिए सौदे पर 20% छूट की पेशकश की थी।
छठा : CAG रिपोर्ट के अनुसार साल 2016 में डील किये गये राफेल फाइटर जेट डील यूपीए की डील की तुलना में 2007 में 2.86 प्रतिशत सस्ती थी।
उपरोक्‍त जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्‍या प्रतिक्रियायें है? कमेंट बॉक्‍स में अपनी महत्‍वपूर्ण राय अवश्‍य लिखें। साथ ही ऐसी ही पोस्ट लगातार पाने के लिए फेसबुक पेज लाइक अवश्‍य करें।

Leave a Reply

Top